Livelihood NewsPrithvi Vriksh Utsav

सैथा गांव, काकोरी ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय में पृथ्वी इनोवेशनस के द्वारा गांव की महिलाओं के साथ बैठक की गई / बैठक में आजीविका , स्वच्छता , जल संरक्षण, वृक्षा रोपण जैसे विषयों पर चर्चा की गई /
सभी प्रतिभगियों ने बड़े उत्साह से अपने विचार प्रस्तुत करे और पृथ्वी इनोवेशंस के साथ अपने घर के कचरे को व्यवस्थित करने का, और तालाब , नदी की सुरक्षा हेतु संकल्प भी लिया ।

इसके साथ सभी महिलाओं द्वारा , मिडिल स्कूल के विद्यार्थियों की मदद से विद्यालय प्रांगण में 20 छायादार पौधों , सीता अशोक, आम, मौलश्ररी का भी रोपण किया गया, जिसका उद्देश्य विद्यालय में पढ़ रहे बच्चो के लिए छाया प्रदान करने अथवा प्रकृति को बढ़ावा देना और वातावरण को प्रदूषण से मुक्त करने की पहल की गई / सभी ने पोधो को कलावा , रक्षा सूत्र बांधा और उन के मंगल की प्रार्थना की। विद्यार्थियों ने कड़ी मेहनत से संस्था के साथ पौधों की सुरक्षा हेतु इटों का घेरा भी बनाया।

आज के इस कार्यक्रम का संचालन संस्था की सचिव, श्रीमती अनुराधा जी एवं पृथ्वी के युवा प्रेरक जनार्दन ने किया । अनुराधा जी द्वारा सभी प्रतिभगियों को अपनी अन्दर छुपी ऊर्जा, क्षमता और हुनर को पहचानें के लिए प्रेरित किया गया और साथ ही साथ उन्हें अपने घर, ग्राम और विद्यायल को हरा भरा, स्वच्छ और प्रगतिशील ग्राम बनाने में पूर्ण योग्यदान देने के लिए जागरूक किया। ग्राम के तालाब और गोमती नदी को विशेष रूप से स्वच्छ और सुंदर रखने पर मुख्यता चर्चा हुई।

इस में ग्राम प्रधान जी का अहम योगदान रहा ।
प्रधान जी ने भी सब के साथ मिलकर प्रकृति के संवर्धन के लिए वृक्षा रोपण किया और गांव की महिलाओं को आगे बढ़ाने के लिए हर प्रकार से सहयोग देने को अस्वस्त किया /

आज की बैठक में गांव की महिलाओं से उनकी दैनिक दिनचर्या में खाली समय में समय व्यतीत करने को लेकर बात की गई तो कुछ महिलाओं ने बताया की उन्हे महिलाओं के साथ गप – सप करना पसंद है तो कुछ ने बताया कि उन्हें सिलाई करके समय काटना पसंद है ऐसा बताया / बाकी गांव की सभी महिलाओं ने खासकर, सिलाई सीखने को लेकर अपनी इच्छा जाहिर की ।
संस्था द्वारा स्व सहायता समूहों को हरित , अर्थात पर्यावरण अनुकूल जीविका से जोड़ने, जैसे कपड़े के थैले, पोटली, वेस्ट चीजों से फाइल कवर, फोल्डर आदि प्रशिक्षण देनें की बात रखीं गई।

सभी महिलाएं आज की कार्यशाला से बहुत प्रभावित हुई और संस्था द्वारा बताएं गए विचारो को अपनाने के लिए उत्सुक हुई।

Leave a Reply