Environment NewsGomti GathaPrithvi Vriksh Utsav

Date: 15th Feb.2020

Program: Gomti Gaatha /Green Celebrations /Prithvi Utsav Organized by Prithvi Innovations

Outcome: 50 saplings planted. Zero Waste Celebrations ,Motivated around 30 children for protection of Trees.

 

आज दि० 15-02-2020 को लखनऊ डालीगंज में गोमती नदी के किनारे मनकामनेश्वर आरती स्थल के पास पृथ्वी इनोवेशनस के द्वारा संचालित गोमती गाथा प्रोग्राम के तहत पृथ्वी उत्सव का आयोजन बहुत ही धूम धाम से मनाया गया जिसमें 50 बच्चो ने मिलकर पर्यावरण की रक्षा के लिए अपने-अपने नाम से एक-एक वृक्ष को रोपड़ कर कुल 50 वृक्ष जो कि सीता अशोक व हरसिंगार के पौधे थे उन्हें रोपण किया और अपने द्वारा लगाए गए वृक्ष को तिलक लगाकर और पुष्प अर्पण कर पेड़ को अपने गले से लगाया और वृक्ष के आजीवन संवर्धन के लिए उसे गोद लिया और उसकी रक्षा करने का वचन लिया /

 

 

 

 

आज की पहल की वजह कुछ इस प्रकार रही –

अंकिता जी ने अपनी बेटी आव्या का जन्मदिन मलिंन बस्ती के बच्चों के साथ मनाने के लिए अनुराधा जी से संपर्क किया। तब अनुराधा जी ने उन को ज़ीरो वेस्ट, प्लास्ट्री फ़्री, उपहार, ईको फ्रेंडली जन्मदिन मनाने की सलाह थी, और पृथ्वी इनोवेशंस ने, गोमती नदी के किनारे आव्या के नाम से एक पोधा रोपने कि  इच्छा रखी।

अंकिता जी को यह विचार बहुत उत्तम लगे और उन के परिवार ने इसका अनुकरण किया।

और स्टील के टिफिन में सभी बच्चो को भोजन वितरण किया। जो हमेशा हम सब को प्रेरणा देता रहेगा कि हम सब के दिल में ऐसा करने की सोच उत्पन्न हो

 

 

आज की पहल हम सब को बहुत कुछ सिखाती हैं कि हम सब भी अपने जन्म दिन के शुभ अवसर पर बड़े बड़े रेस्टोरेंट में फिजूल का खर्च ना करके, उसके बदले गरीब बच्चो के साथ सेलीब्रेट करे इसके साथ ही हर वर्ष अपने अपने जन्म दिन के शुभ अवसर पर कम से कम एक  वृक्ष को रोपण कर उसकी रक्षा करने का संकल्प लें जिससे कि बड़ा होकर स्वयं को अथवा आने वाली पीढ़ी को  स्वच्छ एवं निर्मल हवा प्रदान कर सके

आज के दिन कुछ ऐसा ही खास दृश्य देखने को मिला जो हम सब को अपने जीवन में कुछ अलग ही के लिए प्रेरित करता है /

इस पूरे कार्यक्रम में पृथ्वी इनोवेशंस की संस्थापिका श्री मती अनुराधा गुप्ता जी एवं उनकी टीम में जनार्दन मिश्रा व जल निगम विभाग से रिटायर्ड श्री ओम प्रकाश शर्मा जी ने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए कार्यक्रम को सफल बनाया /

Leave a Reply