Environment NewsImportant DaysJal Yatra

पृथ्वी दिवस पर पृथ्वी इनोवेशन्स द्वारा “पृथ्वी उत्सव” मनाया गया, जिसमें अपर नगर आयुक्त जी श्री पीके श्रीवास्तव जी मुख्य अथिति रहे। ईश्वर की वंदना के बाद, करीब 150 बच्चों, युवा और नगर निगम के सफाई कर्मचारियों ने पृथ्वी इनोवेशन्स के नेतृत्व में, एक घण्टे तक जोश भरे श्रमदान का परिचय दिया और गोमती नदी से सब ने मिल कर करीब 50 बैग्स से भी ज़्यादा पॉलीथीन, प्लास्टिक, पूजा सामग्री, मूर्तियां आदि कचरे को नदी से निकाला।

पृथ्वी इनोवेशन्स ने सभी अतिथियों को लाल चुनर की सुंदर सी पोटलियां, सेव फ़ूड के संदेश वाले रुमाल और नदी से निकलने वाले कचरे से बने मटके और पुष्प टोकरी से सब का स्वागत किया। इस के बाद, “गोमती गाथा” नदी सफाई एवम पुनर्जन्म और नदी या जल संरक्षण हेतु, घैला पुल पर पृथ्वी की अनूठी “जल यात्रा” का शुभारंभ हुआ।

पृथ्वी इनोवेशन्स की सचिव अनुराधा जी ने बताया कि,

“इस जल यात्रा का मुख्य उद्देश्य सूख रहे जल स्रोतों, नदियों को एवं पॉलिथीन, प्लास्टिक, विशेषत: रसायन आदि से दूषित हो रहे जल स्रोतों की तरफ सभी का ध्यान खींचना एवं जनता और सरकार से उन के संरक्षण एवं स्वच्छता की अपील करना हैं।”

इस जल यात्रा का उद्देश्य सभी को न केवल प्रकृति, जल, नदियों में पल रहे जीव जंतुओं से अपितु अपनी संस्कृति व आपस में भी; जैसे गांव को शहर से, जनता को सरकार से, सभी संस्थाओं को भी जोड़ना है और विशेष कर बच्चों के अंदर संवेदना और ज़िम्मेदारी का भाव जाग्रत करना हैं। घैला पुल नदी तट से शुरू हुई यह “जल यात्रा” में आज कुछ ऐसा ही हुआ, 10 से भी अधिक संस्थाओं के प्रतिनिधियो ने; जैसे लखनऊ नगर निगम, जन शिक्षण संस्थान, बाबा भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय, सेठ एआर जयपुरिया, सीएमएस विद्यालय, पायनियर मोंटेंसोरी, महर्षि विद्या मंदिर, बाल भारती, गांधी फेलोज, सीडीआरआई, एनबीआरआई एवं घैला गांव की महिलाओं एवं बच्चों ने बड़े उत्साह से हिस्सा लिया।

नगर निगम से अपर नगर आयुक्त पीके श्रीवास्तव जी, श्री पंकज भूषण जी, वाटर एक्सपर्ट, बाबा भीमराव अंबेडकर विश्विद्यालय से डॉ. वेंकटेश दत्ता जी व उन के परिवार ने पृथ्वी इनोवेशन्स से युवा सदस्य अभिषेक, जन शिक्षण संस्थान से श्री एसपी रस्तोगी जी, आईआईएम से डॉ. पंकज कुमार, सीडीआरआई से डॉ. खान एवं एनबीआरआई से डॉ. अमित जी ने सभी बच्चों और युवाओं एवं घैला पुल के निवासियों के साथ, जल यात्रा में अपनी भूमिका निभाई।

वाटर एक्सपर्ट, बाबा भीमराव अंबेडकर विश्विद्यालय से डॉ. वेंकटेश दत्ता जी व अनुराधा जी ने सभी को ईश्वर की स्तुति एवं श्री श्याम किशोर शुक्ल जी द्वारा वरुण देवता का आह्वान करते हुए छोटे छोटे मिट्टी के कलश यानि मटकों में गोमती नदी का थोड़ा सा जल भरा कर और एक संकल्प के साथ कि, सभी इस जल यात्रा को अपने अपने स्कूल, ऑफिस व उस के आसपास के लोगों तक ले कर जायेगें और सब को जल का महत्व बताएगें।

सभी के हाथ में सजे हुए जल के कलश बहुत सुंदर और सार्थक लग रहे थे। अनुराधा जी ने बताया कि इस जल यात्रा के माध्यम से 21 से 26 अप्रैल तक ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को लखनऊ के अलग अलग हिस्सों में, जैसे इंदिरानगर, गोमतीनगर, अलीगंज, राजाजीपुरम, विकासनगर, राजेंद्रनगर, ईं रोड आदि से जोड़ने और जागरूक करने का प्रयास किया जायेगा।

26 अप्रैल को घैला पुल से शुरू हुई पृथ्वी इनोवेशन्स द्वारा संचालित, “जल यात्रा”, जीपीओ से वीआईपी गेस्ट हाउस तक मार्च करेगी। आज के “पृथ्वी उत्सव” की सब से बड़ी उपलब्धि थी कि घैला गांव की महिलाओं ने बड़े जोश से जल यात्रा में शामिल हो कर, अपनी गोमती नदी को साफ करने का संकल्प लिया और अपने गांव में कचरा, इधर उधर न फेंकने का, पेड़ लगाने की पहल एवं कपड़े के थैले बना कर सब को देने का वादा किया। पृथ्वी इनोवेशन्स की टीम ने इस तरह आज “पृथ्वी दिवस” पर सभी लोगों को प्रकृति से जोड़ने का एक सार्थक प्रयास किया।

Leave a Reply